List of Grahan

List of Eclipse in 2024
 
Mar 25, 2024 Monday चंद्र ग्रहण Know more
चंद्र  ग्रहण / Lunar Eclipse 25 मार्च  2024
  
साल 2024 में चंद्र  ग्रहण 25 मार्च  को लगेगा । ये चंद्र ग्रहण साउथ/वेस्ट यूरोप, ईस्ट एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका, नार्थ/साउथ अमेरिका, पेसिफिक, अटलांटिक, आर्किटिक, अंटार्कटिका  में दिखाई देगा।     

ग्रहण का समय 

चंद्र ग्रहण प्रारम्भ   25 Mar, 04:53:13 25 Mar, 10:23:13
पूर्ण ग्रहण                 25 Mar, 07:12:46 25 Mar, 12:42:46
 चंद्र ग्रहण समाप्त25 Mar, 09:32:21 25 Mar, 15:02:21
 

Penumbral Eclipse begins25 Mar, 04:53:13 25 Mar, 10:23:13
Maximum Eclipse                25 Mar, 07:12:46 25 Mar, 12:42:46
Penumbral Eclipse ends25 Mar, 09:32:21 25 Mar, 15:02:21

सूतक काल

चंद्र ग्रहण का सूतक ग्रहण से 9  घंटे पहले शुरू हो जाता है. शास्त्रों के अनुसार सूतक के नियम वहीं माने जाते हैं, जहां ये ग्रहण दिखाई देता है. 

 ग्रहण के दौरान क्या न करें

1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है । 

2-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
 
3- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए ।

4- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 

5- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 

6- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 

7- ग्रहण के समय तेल लगाना, मालिश करना, नाख़ून या बाल काटना भी वर्जित माना गया है । 


ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।


Apr 08, 2024 Monday सूर्य ग्रहण Know more
 सूर्य ग्रहण /Solar Eclipse 8 अप्रैल 2024
  
साल 2024 में सूर्य ग्रहण 8 अप्रैल को लगेगा । ये सूर्य ग्रहण वेस्ट यूरोप , नार्थ  अमेरिका , नार्थ/साउथ  अमेरिका, पसिफ़िक, अटलांटिक, आर्कटिक.  में दिखाई देगा।     

ग्रहण का समय 

सूर्य ग्रहण प्रारम्भ    8 Apr, 15:42:10 8 Apr, 21:12:10
पूर्ण ग्रहण             8 Apr, 18:17:16 8 Apr, 23:47:16
सूर्य ग्रहण समाप्त   8 Apr, 20:52:14 9 Apr, 02:22:14
 

First location to see the partial eclipse begin 8 Apr, 15:42:10 8 Apr, 21:12:10
Maximum Eclipse                                             8 Apr, 18:17:16 8 Apr, 23:47:16
Last location to see the partial eclipse end    8 Apr, 20:52:14 9 Apr, 02:22:14

सूतक काल

सूर्य  ग्रहण का सूतक ग्रहण से 12  घंटे पहले शुरू हो जाता है. शास्त्रों के अनुसार सूतक के नियम वहीं माने जाते हैं, जहां ये ग्रहण दिखाई देता है. 

 ग्रहण के दौरान क्या न करें

1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है । 

2-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
 
3- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए ।

4- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 

5- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 

6- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 

7- ग्रहण के समय तेल लगाना, मालिश करना, नाख़ून या बाल काटना भी वर्जित माना गया है । 


ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।


Sep 18, 2024 Wednesday चंद्र ग्रहण Know more
  चंद्र  ग्रहण / Lunar Eclipse 18 सितम्बर 2024
 
साल 2024 में चंद्र  ग्रहण 18 सितम्बर को लगेगा । ये चंद्र  ग्रहण यूरोप, साउथ/वेस्ट एशिया , अफ्रीका, नार्थ  अमेरिका, साउथ अमेरिका, पसिफ़िक, अटलांटिक, इंडियन ओशियन  , आर्कटिक, अंटार्टिका  में दिखाई देगा।     

ग्रहण का समय 

चंद्र ग्रहण प्रारम्भ      18 Sep, 00:41:03 18 Sep, 06:11:03 
पूर्ण ग्रहण               18 Sep, 02:44:12 18 Sep, 08:14:12
चंद्र ग्रहण समाप्त      18 Sep, 04:47:21 18 Sep, 10:17:21 
 

Penumbral Eclipse begins 18 Sep, 00:41:03 18 Sep, 06:11:03 
Maximum Eclipse              18 Sep, 02:44:12 18 Sep, 08:14:12
Penumbral Eclipse ends 18 Sep, 04:47:21 18 Sep, 10:17:21 

सूतक काल

चंद्र   ग्रहण का सूतक ग्रहण से 9  घंटे पहले शुरू हो जाता है. शास्त्रों के अनुसार सूतक के नियम वहीं माने जाते हैं, जहां ये ग्रहण दिखाई देता है. 

 ग्रहण के दौरान क्या न करें

1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है । 

2-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
 
3- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए ।

4- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 

5- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 

6- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 

7- ग्रहण के समय तेल लगाना, मालिश करना, नाख़ून या बाल काटना भी वर्जित माना गया है । 


ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।


Oct 02, 2024 Wednesday सूर्य ग्रहण Know more
 सूर्य  ग्रहण/ Solar Eclipse 2 अक्टूबर 2024
 
साल 2024 में सूर्य  ग्रहण 2 अक्टूबर को लगेगा । ये सूर्य ग्रहण साउथ  अमेरिका , पसिफ़िक , अटलांटिक  अंटार्टिका   में दिखाई देगा।     

ग्रहण का समय 

सूर्य ग्रहण प्रारम्भ 2 Oct, 15:42:56 2 Oct, 21:12:56

पूर्ण ग्रहण    2 Oct, 18:45:00 3 Oct, 00:15:00

सूर्य ग्रहण समाप्त 2 Oct, 21:46:55 3 Oct, 03:16:55 
 
First location to see the partial eclipse begin 2 Oct, 15:42:56 2 Oct, 21:12:56

Maximum Eclipse                                           2 Oct, 18:45:00 3 Oct, 00:15:00

Last location to see the partial eclipse end 2 Oct, 21:46:55 3 Oct, 03:16:55



सूतक काल

सूर्य  ग्रहण का सूतक ग्रहण से 12  घंटे पहले शुरू हो जाता है. शास्त्रों के अनुसार सूतक के नियम वहीं माने जाते हैं, जहां ये ग्रहण दिखाई देता है. 

 ग्रहण के दौरान क्या न करें

1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है । 

2-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
 
3- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए ।

4- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 

5- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 

6- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 

7- ग्रहण के समय तेल लगाना, मालिश करना, नाख़ून या बाल काटना भी वर्जित माना गया है । 


ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।


Interested in Personalized Predictions from Dr. Prem Kumar Sharma           SCHEDULE AN APPOINTMENT

Testimonials

His readings are very accurate. We have been going to him ftt try on the last 20 years . Remedies too very effective.
Rashi
Sir provides very detailed and thorough predictions and has never guided me wrong. Will definitely consult him again in the future.
AM
I met Dr. Prem Kumar Sharma when I was stuck and helpless, knotted with multiple problems in relationship, carrier, finance but when I met him I found some strong spiritual power to recover, overcome. Then after working on his remedy I am able to handle so many situations,ups and down , many people give my example as role model. I really like to recommend his consultation.
Dr. Soma Ghosh
What sets Dr. Prem Kumar Sharma apart is his humility. He is an extremely good consuler. His communication regarding my points of consultations have been accurate and crisp. I look forward to meeting with him for consultations.
Captain Shivinder S Bakshi
The result of great relentless efforts of Dr. Prem kumar Sharma and his Team bringing smile to the face of people. I now believe in the fact that Astrology is entirely based on scientific principles. Mathematics side of the astrology is completely true, as life guide.
Mohit Chauhan
Post your testimonial

@premastrologer

Watch More

@askmanisha

Watch More