List of Grahan

List of Eclipse in 2021
 
May 26, 2021 Wednesday चंद्र ग्रहण Know more
चंद्रग्रहण 26 मई 2021 को लगने वाला है. इसे भारत, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, एशिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र में देखा जा सकता है. भारत में यह ग्रहण उपछाया चंद्रग्रहण होगा. लेकिन, देश के बाहर सभी स्थानों पर पूर्ण चंद्र ग्रहण रहेगा.
 
सूतक काल

चंद्र ग्रहण का सूतक ग्रहण से 9  घंटे पहले शुरू हो जाता है.  

चंद्र ग्रहण के दौरान क्या न करें

1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है । 

2-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
 
3- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए ।

4- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 

5- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 

6- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 

ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।


Jun 10, 2021 Thursday सूर्य ग्रहण Know more
Will be visible in much of Europe, Much of Asia, North/West Africa, Much of North America, Atlantic, Arctic and India
 
 
ग्रहण का समय 

आंशिक सूर्य ग्रहण प्रारम्भ  10 Jun, 08:12:20 10 Jun, 13:42:20
पूर्ण ग्रहण आरम्भ            10 Jun, 09:49:50 10 Jun, 15:19:50
पूर्ण ग्रहण                      10 Jun, 10:41:54 10 Jun, 16:11:54
पूर्ण ग्रहण समाप्त             10 Jun, 11:33:43 10 Jun, 17:03:43
आंशिक सूर्य ग्रहण समाप्त 10 Jun, 13:11:19 10 Jun, 18:41:19
 
First location to see the partial eclipse begin 10 Jun, 08:12:20 10 Jun, 13:42:20
First location to see the full eclipse begin 10 Jun, 09:49:50 10 Jun, 15:19:50
Maximum Eclipse 10 Jun, 10:41:54 10 Jun, 16:11:54
Last location to see the full eclipse end 10 Jun, 11:33:43 10 Jun, 17:03:43
Last location to see the partial eclipse end 10 Jun, 13:11:19 10 Jun, 18:41:19
 

सूतक काल

सूर्य ग्रहण का सूतक ग्रहण से 12 घंटे पहले शुरू हो जाता है. शास्त्रों के अनुसार सूतक के नियम वहीं माने जाते हैं, जहां ये ग्रहण दिखाई देता है. 

सूर्य ग्रहण के दौरान क्या न करें

1- सूर्य ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है । 

2-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
 
3- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए ।

4- सूर्य ग्रहण के दौरान सोना नहीं चाहिए, इससे व्यक्ति रोगी हो जाता है।

5- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 

ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।
 
सूर्य ग्रहण, Surya grahan, Solar eclips in june 2021, surya grahan 2021, surya grahan 10 june 2021, when is solar eclips in 2021, surya grahan kab hai, surya grahan 2021 me kab hai


Nov 19, 2021 Friday चंद्र ग्रहण Know more
चंद्र ग्रहण 19 नबंवर 2021

 साल 2021 का आखिरी आखिरी चंद्र ग्रहण वृष राशि और कृत्तिका नक्षत्र में लगने जा रहा है. इस दिन कार्तिक पूर्णिमा का पर्व है. चंद्र ग्रहण 19 नबंवर को लगभग 11 बजकर 30 मिनट पर लगेगा और शाम 05 बजकर 33 मिनट पर ग्रहण समाप्त होगा. इस ग्रहण में सूतक काल या सूतक नियमों का पालन नहीं किया जाएगा. इस ग्रहण को उपछाया ग्रहण माना जा रहा है.  यह ग्रहण भारत, अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र में दिखाई देगा।  

ग्रहण का समय 

उपच्छाया ग्रहण आरम्भ 19 Nov, 06:02:09 19 Nov, 11:32:09 
आंशिक उपच्छाया ग्रहण आरम्भ 19 Nov, 07:18:42 19 Nov, 12:48:42 
पूर्ण  ग्रहण आरम्भ 19 Nov, 09:02:55 19 Nov, 14:32:55 
पूर्ण  ग्रहण समाप्त 19 Nov, 10:47:04 19 Nov, 16:17:04 
उपच्छाया ग्रहण समाप्त 19 Nov, 12:03:40 19 Nov, 17:33:40

Penumbral Eclipse begins 19 Nov, 06:02:09 19 Nov, 11:32:09 
Partial Eclipse begins 19 Nov, 07:18:42 19 Nov, 12:48:42 
Maximum Eclipse 19 Nov, 09:02:55 19 Nov, 14:32:55 
Partial Eclipse ends 19 Nov, 10:47:04 19 Nov, 16:17:04 
Penumbral Eclipse ends 19 Nov, 12:03:40 19 Nov, 17:33:40 

सूतक काल

चंद्र ग्रहण का सूतक ग्रहण से 9  घंटे पहले शुरू हो जाता है.  

चंद्र ग्रहण के दौरान क्या न करें

 
1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ या नया  कार्य  करना वर्जित माना गया है । 
2- ग्रहण से पहले घर में जो भी खाने का सामान हो एवं पानी के ऊपर कुशा रखना चाहिए । 
3-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
4- गर्भवती स्त्रियों को धारदार चीज़े जैसे चाक़ू, कैंची या इसी प्रकार के अन्य सामान का उपयोग ग्रहण के समय नहीं करना चाहिए । 
5- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए । (हालाँकि बुजुर्ग, बच्चे, बीमार और गर्भवती स्त्रियों के लिए ये नियम लागू नहीं होते पर यदि संभव हो तो खाना खाने से बचे )
6- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 
7- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 
8- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 
9- ग्रहण के समय तेल लगाना, मालिश करना, नाख़ून या बाल काटना भी वर्जित माना गया है । 
10- तन, मन व आचरण की शुद्धि पर विशेष ध्यान दे । 
11- ग्रहण के समय न किसी की बुराई करे न सुने, इस से नकारात्मकता और बढ़ती है । 

आजकल के आधुनिक समय में कई लोग इन बातो पर विश्वास नहीं करते पर यदि ऊपर दिए गए नियमो का पालन किया जाये तो कोई बुराई नहीं है । हालाँकि साइंस भी मानती है की जब जब सूर्य और चंद्र ग्रहण लगते है तो वातावरण में सूर्य और चंद्र की किरणे न पहुंचने से कीटाणुओं की मात्रा बढ़ जाती है,  जो हमारे शरीर पर विपरीत प्रभाव डालती है जिस से बचने के लिए बुजुर्गो ने ये नियम बनाये थे।  

ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।



Dec 04, 2021 Saturday सूर्य ग्रहण Know more
साल 2021 का दूसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर को लगने वाला है. जो दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका, अंटार्कटिका और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देने वाला है.  भारत में यह नहीं दिखाई देगा. इस लिए इस ग्रहण का कोई सूतक काल भारत में मान्य नहीं होगा.
 
ग्रहण का समय 

आंशिक ग्रहण आरम्भ  4 दिसंबर, 05:29:16 4 दिसंबर, 10:59:16
पूर्ण ग्रहण आरम्भ 4 दिसंबर, 07:00:04 4 दिसंबर, 12:30:04
पूर्ण ग्रहण  4 दिसंबर, 07:33:26 4 दिसंबर, 13:03:26
पूर्ण  ग्रहण समाप्त 4 दिसंबर, 08:06:32 4 दिसंबर, 13:36:32
आंशिक समाप्त 4 दिसंबर, 09:37:26 4 दिसंबर, 15:07:26

Partial eclipse begin 4 Dec, 05:29:16 4 Dec, 10:59:16
Full eclipse begin 4 Dec, 07:00:04 4 Dec, 12:30:04
Maximum Eclipse 4 Dec, 07:33:26 4 Dec, 13:03:26
Full eclipse end 4 Dec, 08:06:32 4 Dec, 13:36:32
Partial eclipse end 4 Dec, 09:37:26 4 Dec, 15:07:26

 
सूतक काल

सूर्य ग्रहण का सूतक ग्रहण से 12 घंटे पहले शुरू हो जाता है. शास्त्रों के अनुसार सूतक के नियम वहीं माने जाते हैं, जहां ये ग्रहण दिखाई देता है. 

सूर्य ग्रहण के दौरान क्या न करें

 
1- ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ या नया  कार्य  करना वर्जित माना गया है । 
2- ग्रहण से पहले घर में जो भी खाने का सामान हो एवं पानी के ऊपर कुशा रखना चाहिए । 
3-खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय में बाहर नहीं आना चाहिए।
4- गर्भवती स्त्रियों को धारदार चीज़े जैसे चाक़ू, कैंची या इसी प्रकार के अन्य सामान का उपयोग ग्रहण के समय नहीं करना चाहिए । 
5- ग्रहण के दौरान भोजन बनाने और खाने से बचना चाहिए । (हालाँकि बुजुर्ग, बच्चे, बीमार और गर्भवती स्त्रियों के लिए ये नियम लागू नहीं होते पर यदि संभव हो तो खाना खाने से बचे )
6- ग्रहण काल में स्त्रिया एक नारियल अपने पास रख कर सोये । 
7- ग्रहण के समय फूल, पत्तिया या पौधों का स्पर्श करने से बचना चाहिए । 
8- ग्रहण के दौरान ब्रह्मचर्य का पालन करे। 
9- ग्रहण के समय तेल लगाना, मालिश करना, नाख़ून या बाल काटना भी वर्जित माना गया है । 
10- तन, मन व आचरण की शुद्धि पर विशेष ध्यान दे । 
11- ग्रहण के समय न किसी की बुराई करे न सुने, इस से नकारात्मकता और बढ़ती है । 

आजकल के आधुनिक समय में कई लोग इन बातो पर विश्वास नहीं करते पर यदि ऊपर दिए गए नियमो का पालन किया जाये तो कोई बुराई नहीं है । 
हालाँकि साइंस भी मानती है की जब जब सूर्य और चंद्र ग्रहण लगते है तो वातावरण में सूर्य और चंद्र की किरणे न पहुंचने से कीटाणुओं की मात्रा बढ़ जाती है,
 जो हमारे शरीर पर विपरीत प्रभाव डालती है जिस से बचने के लिए बुजुर्गो ने ये नियम बनाये थे।  

ग्रहण के समय क्या करना चाहिए । 

1- ग्रहण के समय में अपने ईष्ट देवता का ध्यान और उनके मंत्र का जप करना चाहिए ।

2- ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान कर लेना चाहिए न संभव हो तो पवित्र जल के छींटे अपने शरीर पर डालने चाहिए ।

3-  ग्रहण के समय अन्न और दाल का दान का निकाल कर रख देना चाहिए जो ग्रहण समाप्त होने पर किसी को देना चाहिए ।

4- ग्रहण समाप्ति के बाद गाय को हरा चारा, पक्षियों को दाना तथा गरीबों को वस्त्र का दान करना भी फलदायक होता है।

Interested in Personalized Predictions from Dr. Prem Kumar Sharma           SCHEDULE AN APPOINTMENT

Testimonials

He is a true life coach and encourages deeper understanding of the way life works and how. And then suggests prevention of crisis basis tested and personalised practices. A very positive person and his predictions and preventive methods are very accurate and positive. Love to meet him every time we get to.
Sujit
I had my first ever telephonic consultation with Mr. Prem Sir as per my concern he is the best astrologer very concrete reading and straight forward.Iam very happy and motivated with his line Do your best and leave the rest for Me. Definitely You will be civil servant one day very soon.
AMIT KUMAR JHA
I met Dr. Prem Kumar Sharma when I was stuck and helpless, knotted with multiple problems in relationship, carrier, finance but when I met him I found some strong spiritual power to recover, overcome. Then after working on his remedy I am able to handle so many situations,ups and down , many people give my example as role model. I really like to recommend his consultation.
Dr. Soma Ghosh
The result of great relentless efforts of Dr. Prem kumar Sharma and his Team bringing smile to the face of people. I now believe in the fact that Astrology is entirely based on scientific principles. Mathematics side of the astrology is completely true, as life guide.
Mohit Chauhan
We r in touch with dr Sharma from almost 10 years now. I have gone through a very rough phase few years back but I want to say that with Sharma uncle’s support I sailed smoothly through difficult times. Meenu Didi is also very supportive, n always been so accommodating regarding the appointments required. Thank u so much for helping us in our difficult times.
Preeti Chauhan
Post your testimonial

@premastrologer

Watch More

@askmanisha

Watch More